• Patna College Celebrates 150th Glory
  • Patna City Bandh Against Hooch Tragedy
  • Mahatma Statue Comes To Patna
  • Patna Celebrates New Year
  • Dozens Fined For Tinted Glass
  • Patna Unites Against Rape
  • Astrologers Congregates At Patna
  • Governor Awards Degree To MMHU Toppers
  • British Forces Under Buddha Tutelage
  • Dilli Haat In Patna Soon

State Plan for Slum Area

Patna
State Plan for Slum Area
December 21, 2011

    पटना, एक्सप्रेस ग्रुप संवाददाता - राज्य सरकार ने बिहार राज्य मलिन बस्ती नीति-२०११ को स्वीकृति प्रदान कर दी है। बुधवार को इसे जारी भी कर दिया गया। नगर विकास एवं आवास विभाग के मंत्री प्रेम कुमार ने स्लम एरिया पालिसी के अलावा २८ शहरों के सिटी डेवलपमेंट प्लान-२०१०-३० को जारी करते हुए पत्रकारों को बताया कि अगले पांट सालों मे राज्य के ८४३ स्लम एरिया और २८ शहरों  को योजनाबद्ध तरीके से विकसित किया जाएगा, जहां नागरिकों को बुनियादी सुविधाएं मुहैया हो सके।    इस मौके पर संबंधित २८ शहरों के नगर परिषद और नगर पंचायत के सभी महापौर एवं अध्य़छ भी मौजूद थे। मंत्री ने कहा कि कुछ वर्ष पहले तक बिना प्लानिंग के शहरों का अनियोजित तरीके से विकास हुआ है। इससे अनेक तरह की परेशानी बढी है। स्लम एरिया में काफी परेशानी है। वहां के वाशिंदों को शुद्ध पेयजल, बिजली आपुर्ति नहीं हो पाती है, तो वहीं सीवरेज और शौचालय का घोर अभाव है। राज्य सरकार का प्रयास है कि स्लम एरिया का समूचित विकास हो और लोगों को बुनियादी जरूरत की चीजें भी मुहैया करायी जा सके। सरकार द्वारा स्लम एरिया मे २५० वर्गफीट का घर निर्माण करके देने का प्लान है।    नगर विकास मंत्री प्रेम कुमार ने बताया कि जनवरी २०२ से पहले चरण मे सिटी डेवलपमेंट प्लान शामिल २८ शहरों के ५६ स्लम एरिया के विकास योजनाबद्ध तरीके से किया जायेगा।

    पटना, एक्सप्रेस ग्रुप संवाददाता - राज्य सरकार ने बिहार राज्य मलिन बस्ती नीति-२०११ को स्वीकृति प्रदान कर दी है। बुधवार को इसे जारी भी कर दिया गया। नगर विकास एवं आवास विभाग के मंत्री प्रेम कुमार ने स्लम एरिया पालिसी के अलावा २८ शहरों के सिटी डेवलपमेंट प्लान-२०१०-३० को जारी करते हुए पत्रकारों को बताया कि अगले पांट सालों मे राज्य के ८४३ स्लम एरिया और २८ शहरों  को योजनाबद्ध तरीके से विकसित किया जाएगा, जहां नागरिकों को बुनियादी सुविधाएं मुहैया हो सके।    इस मौके पर संबंधित २८ शहरों के नगर परिषद और नगर पंचायत के सभी महापौर एवं अध्य़छ भी मौजूद थे। मंत्री ने कहा कि कुछ वर्ष पहले तक बिना प्लानिंग के शहरों का अनियोजित तरीके से विकास हुआ है। इससे अनेक तरह की परेशानी बढी है। स्लम एरिया में काफी परेशानी है। वहां के वाशिंदों को शुद्ध पेयजल, बिजली आपुर्ति नहीं हो पाती है, तो वहीं सीवरेज और शौचालय का घोर अभाव है। राज्य सरकार का प्रयास है कि स्लम एरिया का समूचित विकास हो और लोगों को बुनियादी जरूरत की चीजें भी मुहैया करायी जा सके। सरकार द्वारा स्लम एरिया मे २५० वर्गफीट का घर निर्माण करके देने का प्लान है।    नगर विकास मंत्री प्रेम कुमार ने बताया कि जनवरी २०२ से पहले चरण मे सिटी डेवलपमेंट प्लान शामिल २८ शहरों के ५६ स्लम एरिया के विकास योजनाबद्ध तरीके से किया जायेगा।